दा इंसपायर्ड फाउंडेशन एनजीओ संस्थान है, दा इंसपायर्ड फाउंडेशन भारत सरकार एवं मध्य प्रदेश सरकार से मान्यता प्राप्त है, भारत सरकार आयकर विभाग, भारत सरकार नीति आयोग, भारत सरकार लघु एवं स्वच्छ उद्योग, से मान्यता प्राप्त है, आज दोबारा जिसके प्रमाण सर्टिफिकेट सार्वजनिक किए जा रहा है, क्योंकि दा इंसपायर्ड फाउंडेशन के कार्यालय पर फोन करके यह कहां जाता है, कि आपका कोई रजिस्ट्रेशन नहीं है, और आप फर्जी एनजीओ संस्था है, दा इंसपायर्ड फाउंडेशन अध्यक्ष श्री विजय ठाकरे जी, है और उपाध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार शुक्ला जी है, सचिव श्री संकेत कुमार अवधिया जी हैं, कोषा अध्यक्ष श्री सुरेंद्र रजक जी हैं, संयुक्त सचिव श्री अभिषेक डेहरिया जी हैं, श्री विनोद उईके जी कोफाउंडर मेंबर हैं, एवं सुश्री अर्चना ठाकरे जी कोफाउंडर मेंबर हैं, और दा इंसपायर्ड फाउंडेशन द्वारा गौशाला आश्रम भी है, सचिव श्री संकेत कुमार अवधेश जी द्वारा बताया गया कि आज दिनांक तक, दा इंसपायर्ड फाउंडेशन एक रुपए की भी राशि अनुदान पर नहीं दी गई है, क्योंकि इस संस्था पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि आपको मध्य प्रदेश शासन और भारत सरकार से राशि मिली है, जिसका आपने अपने हित के लिए उपयोग किया है, संस्थान को बताते हुए बहुत खुशी हो रही है, संस्थान को आज दिनांक तक किसी भी प्रकार की शासन से मदद नहीं मिली है।